Demo2 first Demo2 first Demo2 second Demo2 third Demo2 fourth Demo2 five
सम्मेदाचल एकमात्र ऐसा ऑनलाइन अख़बार है जिसपर समस्त जैन तीर्थ स्थलों की जानकारी उपलब्ध हैA
 
 
सुस्वागतम्    
धर्म एवम् संस्कृति का प्रवाहक सम्मेदाचल पाक्षिक समाचार पत्र नवनीत जैन द्वारा 2005 में स्थापित किया गया। 10 वर्षों की यात्रा पूर्ण करने के पश्चात सम्मेदाचल जैन धर्म के प्रचार प्रसार एवम् जिनवाणी के उदघोष में सलंग्न है। सम्मेदाचल के माध्यम से जैन साधु,  जैन तीर्थ एवम् जैन संस्थाओं की सम्पूर्ण देश की जानकारी उपलब्ध हो जाती है।

सम्मेदाचल में धर्मिक के साथ संतवाणी, महिला जगत, युवा जगत, परिवार जगत, मनोरंजन सूचनाऐं तथा लेख प्रकाशित होते हैं जिससे यह बच्चे, युवा तथा वृद्ध सभी की पहली पसंद है। जैन समाज के अग्रणी पत्रों में माना जाने वाले सम्मेदाचल के आगामी अंक की पाठकों को बेताबी से प्रतीक्षा रहती है।
 
प्रमुख जैन तीर्थ    
   
गिरनार जी
चम्पापुरी
पावापुरी
हस्तिनापुर
महलका (आदियांचल)
अलवर
द्रोणागिरि
दरगुवाँ जी
पावागिरि जी
पपौरा जी
पाश्र्वनाथ करगुवाँ जी
सीरोन जी
खजुराहो
पटेरिया जी
बानपुर
श्री गोलाकोट जी
वहलना (मुजफ्फरनगर)
   
बसावा
सोनागिर
नागपुर
जखौरा जी
बालाबेहट जी
देवगढ़ जी
प्यावल जी
पफलहोड़ी जी
शान्तिनाथ चाँदपुर जी
सोनागिरि जी
सैरोन जी
थूबोन जी
पचराई जी
पावागढ
चन्द्रपुरी
सारनाथ
भेलूपुर (वाराणसी)
   
भदैनी (वाराणसी)
कंकाली टीला
बीनाजी
कारीटोरन जी
गिरारगिरि जी
बंधा जी
मदनपुर जी
खंदारगिरि जी
बाँसी जी
दुध्ई जी
टोढ़ी पफतेहपुर
कुंडलगिरि, कण्डपुर
रेशंदीगिरि
अहार जी
close_button
Close
फोटो गैलरी
 
विडियो गैलरी
 
 
Home    |    About Us    |    Members    |    Jain Temples    |    News Paper    |    Advertisement    |    Registration    |    Contact Us   |    Login
© Copyright 2012 Sammedachal, All Rights Reserved
Powered By :